Swaraj TV 24
Sitamarhi News

सीतामढ़ी :: भारत-नेपाल की सीमा से गिरफ्तार दो चीनी नागरिक जेल भेजे गए 

 

स्वराज न्यूज़ /सीतामढ़ी। जिले की  भारत-नेपाल सीमा पर भिट्ठामोड़-जलेश्वर चेक पोस्ट से  गिरफ्तार किये गए दो चीनी नागरिक को सोमवार को जेल भेज दिया गया ।दोनों को  पुपरी अनुमंडल प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी किशोर गौरव की अदालत में पेश किया गया। अदालत के समक्ष चीनी नागरिकों ने अपनी बात रखने की कोशिश की मगर, भाषाई दिक्कतों के चलते दोनों नागरिक अदालत के सवालों को अच्छी तरह नहीं समझने की बात कह रहे थे। इतना बताया कि ग्रेटर नोयडा में रहनेवाले अपने मित्र कैरी से मिलने के लिए वहां गए थे और वहां से लौटते वक्त बार्डर पर सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया। अदालत ने उनसे पूछा कि क्या तुम दोनों अपने मुकदमे के लिए वकील हायर करना चाहोगे या कोर्ट की ओर से लीगल एड दिया जाए। दोनों ने लीगल एड के लिए अदालत से निवेदन नहीं किया। यानी उनको विधिक सहायता मुहैया कराई जाए, वकील की सुविधा मिले उसने ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया है। दोनों ने अदालत से इस बात की गुहार लगाई कि अपनी बात रखने के लिए तीन भाषाओं- चीनी, भारतीय व अंग्रेजी भाषा के जानकार अनुवादक उपलब्ध कराए जाएं। कोर्ट ने जिला विधिक सेवा प्राधिकार को आदेश दिया कि इन्हें अनुवादक उपलब्ध कराएं। दोनों को सुरसंड पुलिस ने रविवार को अदालत के समक्ष उपस्थापित किया जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में सीतामढ़ी मंडल कारा में भेजा गया था। आज पुन: दोनों नागरिकों की पेशी हुई थी। जिन परिस्थितियों में दोनों विदेशी नागरिकों की गिरफ्तारी हुई उन हालातों में इस बात की पूरी गुंजाइश थी कि पुलिस या सुरक्षा एजेंसियां उन्हें रिमांड पर लेने की अर्जी अदालत के समक्ष दाखिल कर सकते हैं, मगर अदालती कार्यवाही समाप्ति यानी दोपहर दो बजे तक पुलिस या सुरक्षा एजेंसियों की आर से पूछताछ के लिए रिमांड की अर्जी दाखिल नहीं की जा सकी। जिससे उनको 20 जून तक रिमांड पर अब नहीं लिया जा सकता है। बता दें कि गत 24 मई से भारत में रह रहे दो चीनी नागरिक बुहान के लू लैंग एवं युआन हैलोंग नेपाल में प्रवेश करने से पहले बार्डर पर सुरक्षा बलों के हत्थे चढ़ गए। एसएसबी का कहना है कि उनके पास से भारत में निवास करने हेतु कोई भी अधिकृत दस्तावेज प्राप्त नहीं हुआ। साथ ही इनसे प्राप्त हुए विभिन्न सामान व मोबाइल फोन के संवाद के विश्लेषण से ऐसा प्रतीत होता है कि ये लोग वित्तीय जालसाजी में सलिप्त हो सकते हैं या किसी वित्तीय जालसाजी के रैकेट में सहयोगी हो सकते हैं। चोरी-चुपके भारत में घुसे दोनों चीनी नागरिकों को भारत-नेपाल सीमा पर सीतामढ़ी जिले में सशस्त्र सीमा बल की  51वीं बटालियन के जवानों ने गश्ती के दौरान संदेह के आधार पर पकड़ा था ।

Related posts

सीतामढ़ी :: बेलसंड में शांति समिति की बैठक आयोजित

swarajtv24

सीतामढ़ी:नशा मुक्ति अभियान को लेकर डुमरा में निकला मशाल जुलूस

swarajtv24

विशेष संक्षिप्त मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत मतदाता सूची में नाम जोड़ने,हटाने,सुधार करने आदि को लेकर जागरूकता वाहन को डीएम ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

swarajtv24

Leave a Comment

मोतिहारी